विवेकानंद स्कूल ऑफ जर्नलिज़्म एन्ड मास कम्युनिकेशन का वार्षिक मेगा मीडिया फेस्टिवल में आमंत्रित

नई दिल्ली: विवेकानंद इंस्टिट्यूट ऑफ प्रोफेशनल स्टडीज़ (विप्स) के पत्रकारिता विभाग, विवेकानंद स्कूल ऑफ जर्नलिज़्म एंड मास कम्युनिकेशन के वार्षिक मिडिया फेस्ट, स्पंदन-2017 का आगाज़ 6 नवंबर से हो रहा है। इस तीन-दिवसीय फेस्ट में प्रतिस्पर्धा और गैर-प्रतिस्पर्धा की श्रेणी में कुल 36 इवेंट्स का आयोजन किया जाएगा।

इस बार का थीम लोक माध्यमों पर आधारित है। संचार का यह पारंपरिक रूप तकनीक और औद्योगीकरण के इस युग में कहीं खो रहा है, मगर पत्रकारिता का कोई भी जानकार इस बात से इंकार नही कर सकता कि सूचना या खबर को शुद्ध रूप से समाज की जड़ों तक पहुँचाने में लोक माध्यमों का कोई तोड़ नही। इसी तथ्य को प्रमाणित करने के लिए इस बार स्पंदन का आयोजन “इट्स ऑल फोक” टैगलाइन के साथ किया जा रहा है।

कार्यक्रम का उदघाटन वरिष्ठ पत्रकार श्री क़मर वाहीद नक़वी और उनके साथ डॉ. अनिल सिंह , वरिष्ठ पत्रकार , ए.बी.पी. न्यूज़, एवं आज तक के कार्यकारी निर्देशक करेंगे। साथ ही, विप्स के चेयरमैन श्री डॉ॰ एस. सी. वत्स; वाईस चेयरमैन श्री कृष्ण अग्रवाल और श्री सुनीत वत्स तथा पत्रकारिता विभाग के डीन डॉ॰ अमित चन्ना भी उपस्थित रहेंगे।

स्पंदन के पहले दिन विप्स कैम्पस में फेक न्यूज़ के चलन पर मीडिया पंचायत लगाई जायेगी। इसमें वरिष्ठ पत्रकार परंजोय गुहा ठाकुरता; इंडिया न्युज़ के एम. डी.राणा यशवंत, डॉ. अनिल सिंह , वरिष्ठ पत्रकार , ए.बी.पी. न्यूज़, एवं आज तक, कार्यकारी निर्देशक, वीरेंद्र मिश्रा, दी वायर से आर्फ़ा खानम और वरिष्ठ पत्रकार क़मर वहीद नक़वी छात्रों के साथ अपने अनुभव साझा करेंगे।

इस साल स्पंदन में चार फिल्म स्क्रीनिंग होगी:
अनीषित ठुकराल द्वारा निर्देशित ‘दी फॉल’, डॉ. अंकित शर्मा द्वारा निर्देशित रिसर्जेन्स, ज़ैन अनवर द्वारा निर्देशित मेहराम और पंकज जौहर द्वारा निर्देशित सेसिलिआ।

ट्रैवल सीक्रेट्स की प्रकाशक और संपादक श्रीमती शुभरा कृष्ण, यात्रा कार्यशाला ‘सफरनामा’ के दौरान छात्रों और इच्छुक यात्रा के पत्रकारों को संबोधित करेंगी।

शास्त्रीय नृत्य समूह, नदया अदा द्वारा पारंपरिक नृत्य प्रदर्शन, तरुण भारत संघ के कार्यकारी निर्देशक – श्री मौलिक सिसोदिया द्वारा ‘मेकिंग कम्युनिटीज़ वॉटर रेसिलिएंट थ्रू वॉटर कॉनवर्सेशन’ पर चर्चा, शुभोमोय सिकदर द्वारा ‘चैलेन्जिस ऑफ न्यूज़ गेधरिंग इन २४ ऑरर्स’ पर चर्चा; यक्ष प्रशन (क्विज़ प्रतियोगिता); अस्मिता – थिएटर समूह की रंगमंच की कार्यशाला और वाद-विवाद (बहस प्रतियोगिता) जैसे कार्यक्रम देखने के लिए प्रमुख आकर्षण हैं।

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *