एनसीआरबी ने अपना 33वां स्थापना दिवस मनाया

राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो (एनसीआरबी) द्वारा को अपना 33वां स्थापना दिवस, महिपालपुर, नई दिल्ली स्थित नव निर्मित परिसर में हर्षोल्लास के साथ मनाया गया एवं इस अवसर पर “CitizenServices” मोबाइल एप को जारी किया।

इस समारोह को मुख्य अतिथि श्री राजीव जैन, निदेशक, आईबी एवं विशेष अतिथि डॉ. ए पी माहेश्वरी, निदेशक, पुलिस अनुसंधान एवं विकास ब्यूरो ने अपनी गरिमामई उपस्थिति से सुशोभित किया।

इस अवसर पर एनसीआरबी द्वारा एक स्वनिर्मित सॉफ्टवेयर/ एप्लीकेशन की प्रदर्शनी का भी आयोजन किया गया, जिसमें उनके द्वारा विभिन्न सॉफ्टवेयरजैसे ‘वाहन-समन्वय’,‘तलाश’,एवं मोबाइल एप‘CitizenComplaintapp’,‘ViewFIR’,‘PoliceStationLocator’के साथ-साथ एनसीआरबी के विभिन्न प्रकाशनों जैसे “CrimeinIndia”,“Accidental Deaths & Suicides in India” तथा “Prison Statistics India”इत्यादि प्रदर्शित किए गए।

इस अवसर पर मुख्य अतिथि ने एनसीआरबी द्वारा निर्मित मोबाइल एप”CitizenServices” सर्विस का लोकार्पण किया, जिससे सामान्य नागरिक अपनी शिकायत दर्ज करा सकते हैं तथा शिकायत की स्थिति भी जान सकते हैं। इसके अलावा इस एप का उपयोग FIR को देखने, खतरे के समय मैसेज भेजने, पुलिस स्टेशन की भौगोलिक स्थिति जानने एवं आपातकाल नंबर देखने इत्यादि में किया जा सकता है।

अपने उद्घाटन अभिवादन में डॉ.ईश कुमार,निदेशक,एनसीआरबी ने अतिथियों का स्वागत करते हुएब्यूरोके इतिहास एवं पिछले 32 वर्षके उपलब्धियों की संक्षिप्त जानकारी दी। सीसीटीएनएसप्रोजेक्ट,जोकिभारत सरकार की राष्ट्रीय ई-गवर्नेंस योजना के मिशन मोडपरियोजना के अंतर्गत आता है,के संबंध में उन्होंने बताया कि इस समय 93% से अधिक पुलिस थाने सीसीटीएनएससे जुड़ चुके हैं तथा मौजूदा सीसीटीएनएसराष्ट्रीय डेटाबेस में आंकड़ों की संख्या 12.5 करोड़ से ज्यादा है, जिसमें 2003 से 4.5 करोड़ सीसीआईएएस डाटा में से 4 करोड़ अपराध रिकार्ड्का डिजिटाईजेशनतथा माइग्रेशनसम्मिलित है। 5 लाख से अधिक पुलिस कार्मिकों को सीसीटीएनएस के लिए प्रशिक्षित किया जा चुका है।35 राज्यों तथा संघ शासित प्रदेशोंने “StateCitizenPortal” की शुरुआत कर दी है, जिसके माध्यम से नागरिक विभिन्न सेवाओं का उपयोग कर सकते हैं। वर्तमान में कुछ राज्य जैसे हरियाणा तथा राजस्थान,सीसीटीएनएस परपूर्णतया: ऑनलाइन कार्य करते हैं तथा सीसीटीएनएस की रिपोर्टों को न्यायालय में प्रस्तुत करना शुरू कर दिया है।उन्होंने डाटा analytics के महत्व को बल दिया जिससे क्राइमडेटाएनालिटिक्स एंड फिंगर प्रिंट साइंस में एनसीआरबीउत्कृष्टता का केंद्र बन सके।

मुख्य अतिथिने भी अपने विचार रखे तथा उन्होंने user-friendlysystem बनाने और नागरिकों के लिए उन्हें उपयोगी बनाने के महत्व पर बल दिया। उन्होंने विदेश मंत्रालय के माध्यम से अन्य देशों को,एनसीआरबीद्वारा बनाए गए विभिन्नITप्रोजेक्ट् को देने के लिए भी सुझाव दिया। उन्होंने सभी प्रयासों में एनसीआरबी को सभी संभव मदद का आश्वासन दिया।

विशिष्ट अतिथि ने अपने वक्तव्य में,उन्होंने एनसीआरबी जैसे गतिशील संगठन के लिए आंकड़ों के महत्व और इसके उपयोग पर जोर दिया। परिणाम उन्मुख कार्यों को बढ़ाने के लिए डेटा का उपयोग वर्तमान दुनिया में नया रुझान बन गया है।

इस अवसर पर ब्यूरो के 19 कार्मिकों (सूची संलग्न) को उनके कार्य के प्रति निष्ठा एवं समर्पण के लिए अलंकृत भी किया गया। हर साल की तरह इस बार भी एनसीआरबी कर्मचारियों के प्रतिभाशाली बच्चों को भी पुरस्कार दिया गया।एनसीआरबी प्रतिवर्ष अपने कर्मचारियों के लिए विभिन्न खेलों तथा प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिताओं का भी आयोजन करता है, इन खेलों में विजयी प्रतिभागियों को भी पुरस्कृत किया गया।

Song&DramaDivision,एनसीआरबी कर्मचारियों व उनके परिजनों तथा विदेशी पुलिस प्रशिक्षुओं के विभिन्न रंगारंग तथा मनमोहक प्रदर्शनों ने इस कार्यक्रम को और भी मनोरंजक कर दिया।

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *