X
    Categories: दुनिया

पशुओं के न्याय के लिए प्रदर्शन

पशु अधिकार कार्यकर्ताओं ने इस बात को  उजागर करने के लिए एक प्रदर्शन का आयोजन किया कि स्वतंत्रता सभी पशु प्रजातियों का एक स्पष्ट अधिकार  है। कार्यकर्ताओं ने लोगों को वीगन बन जाने की आवश्यकता के बारे में जागरूक किया और इसे सहज रूप मे अपनाने के लिए लोगों के साथ खुली चर्चा की।दो कार्यकर्ताओं ने जंतर-मंतर पर एक पिंजरे में खुद को बंद कर लिया, यह प्रदर्शित करने के लिए कि जानवरों का भोजन, कपड़े, मनोरंजन, अनुसंधान आदि के लिए कैसे शोषण किया जाता है और उन्हें कैसे स्वतंत्रता से वंचित किया जाता है। अन्य कार्यकर्ताओं ने जानवरो के प्रति दया का संदेश पड़े और वीगन जीवनशैली के बारे में जागरूकता फैलाने वाले प्लेकार्ड्स के साथ पिंजरे के पास खड़े रहें.यह जागरूकता अभियान हमारे रोजमर्रा के विकल्पों द्वारा जानवरों पर होने वाले कष्ट को उजागर करने के लिए किया गया था।

विचार-विहीन प्रदर्शन का उद्देश्य जनता को एक वीगन जीवन शैली अपनाने के लिए प्रोत्साहित करना था। वीगन मूल रूप से यह विचार है कि जानवर अपने स्वयं के कारणों के लिए मौजूद हैं और उनका शोषण किसी भी स्थिति में नहीं किया जाना चाहिए। मांस, अंडे, डेयरी उत्पाद / दूध और शहद नहीं खाने के अलावा, वीगन होने का मतलब किसी भी पशु-परीक्षण उत्पादों या किसी भी उत्पाद या सेवा से बचना है जिसमें जानवरों का उपयोग शामिल है।स्वयंसेवक भारत गोयल बताते हैं, “यह प्रयास लोगों से आग्रह करता है कि वे गैर-मानव पशु प्रजातियों के मनमाने और अन्यायपूर्ण आधार पर सौंपी गई वस्तु स्थिति के बारे में फिर से विचार कर अपनी सोच बदले ” “ज्यादातर लोग जानवरों की क्रूरता को स्वीकार नहीं करते हैं, लेकिन सामाजिक व्यवस्था हमें जानवरों पर होने वाली पीड़ा से दूर करती है और हमें जानवरों को केवल वस्तुओं या सम्पत्ति के  रूप में देखने के लिए प्रेरित करती है।”

This article was last modified on February 2, 2019 4:51 AM

This website uses cookies.