X
    Categories: दिल्ली

भोपाल में दिग्विजय विरुद्ध साध्वी प्रज्ञा के उतरने से हो सकता है वोटों का ध्रुवीकरण

नई दिल्ली। मध्यप्रदेश की भोपाल संसदीय सीट से कांग्रेस ने दिग्विजय सिंह को मैदान में उतार दिया है पर भाजपा अभी भी असमंजस में है कि यहें से किसको टिकट दे। अब सुगबुगाहट है कि भाजपा दिग्विजय के सामने हिंदुत्व का चेहरा मानी जाने वाली साध्वी प्रज्ञा को उतारने के बारे में विचार कर रही है। पार्टी इस फैसले के नफा नुकसान के बारे में सोच रही है। यदि ऐसा होता है तो भोपाल सीट पर काफी ध्रुवीकरण देखने को मिल सकता है।


2008 में मालेगांव ब्लास्ट में आरोपी साध्वी प्रज्ञा को पिछले साल ही एनआईए कोर्ट सबूतों के अभाव में बरी कर दिया था। जेल से रिहा होने के बाद उन्हें हिंदुत्व के चेहरे तौर पर देखा जा रहा है। हालांकि उन्हें दिग्विजय सिंह के सामने अच्छा उम्मीदवार माना जा रहा है। दिग्विजय सिंह पर ‘हिंदू आतंकवाद’ शब्द को जन्म देने और दिल्ली के बाटला हाउस एनकाउंटर को फर्जी बताने का आरोप है, जिसमें इंडियन मुजाहिद्दीन के आतंकी मारे गए थे। वहीं साध्वी के अनुभवी न होने के कारण भी कुछ सवाल खड़े हो रहे हैं।

सूत्रों का कहना है कि इस बारे में अभी अंतिम फैसला लिया जाना बाकी है। पार्टी की चिंता यह है कि क्या वह ‘हिंदुत्व’ के मुद्दे को इस ढंग से उठा पाएंगी, कि चुनाव आयोग भी इस पर ऐतराज न करे। यदि साध्वी को उम्मीदवार बनाया जाता है तो विपक्ष को यह कहने का मौका मिल जाएगा कि भाजपा हिंदू असामाजिक तत्वों को बढ़ावा देती है।


दिग्विजय सिंह ने ‘हिंदू आतंकवाद’ खिलाफ अभियान चलाया था। बाटला हाउस एनकाउंटर में मारे गए आतंकियों के आजमगढ़ स्थित घर पर भी वह गए थे और उनके परिवारों से मुलाकात की थी। इस एनकाउंटर में दिल्ली पुलिस के वरिष्ठ पुलिस अधिकारी मोहन चंद्र शर्मा शहीद हो गए थे। साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने बताया, ‘दुश्मन को परास्त करने के लिए पूरी तरह तैयार हूं।

‘ उनका इशारा दिग्विजय सिंह की तरफ था, जिन्होंने साध्वी पर आतंकवादी होने का टैग लगाया था। साध्वी ने कहा, ‘मेरी कुछ स्वास्थ्य संबंधी दिक्कतें हैं, जिनके लिए दिग्विजय सिंह जिम्मेदार हैं। मैं कभी उन धब्बों को नहीं भूल सकती, जो उन्होंने मेरी जिंदगी पर लगाए हैं।’ जब उनसे पूछा गया कि क्या पार्टी की तरफ से आपके चुनाव लड़ने को लेकर कोई फैसला लिया गया है, तो उन्होंने कहा कि वह दुश्मन को परास्त करने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं।

This article was last modified on April 9, 2019 2:14 AM

This website uses cookies.