X
    Categories: दिल्लीदिल्ली-NCR

मैट्रो फेज-4 लटकाने से बवाना, नरेला क्षेत्र के लाखों ग्रामीण दिल्ली और केंद्र सरकार से आक्रोशित

आदर्श ग्रामीण समाज दिल्ली के वरिष्ठ उपाध्यक्ष दयानंद वत्स ने दिल्ली के मुख्यमंत्री श्री अरविंद केजरीवाल और केंद्रीय शहरी विकास मंत्री श्री हरदेव पुरी को पत्र लिखकर मांग की है कि यदि दिल्ली सरकार और केंद्र सरकार ने मैट्रो फेज-4 के निर्माण में हो रही अनावश्यक देरी  से उत्पन्न गतिरोध को व्यापक जनहित में तत्काल नहीं सुलझाया तो बवाना और नरेला क्षेत्र के लाखों मतदाता आगामी लोकसभा चुनावों में दोनों ही पार्टियों के विरुद्ध नोटा का प्रयोग करने से नहीं हिचकेंगें। ज्ञातव्य है कि मैट्रो के प्रथम चरण में ही शाहदरा से बरवाला की लाइन स्वीकृत थी जिसे बाद में रिठाला पर रोक दिया गया। 15 साल तक कांग्रेस शासित दिल्ली सरकार ने और अब चार साल से आम आदमी पार्टी शासित अरविंद केजरीवाल सरकार और केंद्र सरकार की बीच चल रहे घमासान के कारण रिठाला से बरवाला, बवाना होकर  नरेला तक की मैट्रो फेज-4 में पुन: स्वीकृत लाइन फिर से अधर में लटक गयी है। वत्स ने कहा है कि बवाना नरेला के लाखों लोगों के साथ दोनों ही सरकारों की वादा खिलाफी का हिसाब क्षेत्र की जनता नोटा से देगी। दयानंद वत्स ने बताया कि वे पिछले 16 सालों से मैट्रो को रिठाला से बरवाला, बवाना नरेला तक लाने की मांग करते आए हैं। दिसंबर में चौथे चरण में इस लाईन की स्वीकृति होने पर भाजपा और आप के.नेताओं में इसका श्रेय लेने की होड लग गई थी । लेकिन अब यह मामला फिर से लटका दिए जाने से दिल्ली देहात के बवाना और.नरेला विधानसभा क्षेत्र के लोग खुद को ठगा हुआ महसूस कर रहे हैं। लेकिन क्षेत्र के निर्वाचित जन-प्रतिनिधि खामोश हैं।

This article was last modified on February 5, 2019 5:57 AM

This website uses cookies.