X
    Categories: बॉलीवुडमनोरंजन

बॉलीवुड के मशहूर अभिनेता सुरेन्द्र ठाकुर ने शुरूआती दिनों में किया था संघर्ष

मथुरा । ( मुकेश / रहीश ) हिमाचल प्रदेश के एक छोटे से गांव से निकल कर बॉलीवुड में पैर जमाने के लिए माया नगरी मुम्बई में पहुंचने वाले मशहूर अभिनेता सुरेन्द्र ठाकुर ने शुरूआती दिनों में बड़ी कठिनाइयों का सामना करना पड़ा लेकिन उनके जज्बे के सामने सफलता को आखिर झुकना ही पड़ा । दर्जनों फिल्मों में अपने अभिनय का लोहा मनवा चुके मशहूर अभिनेता अपनी आने वाली फिल्म की सफलता के लिए ठाकुर श्री बांकेबिहारी की शरणों में पहुंचे और वहां पूजा – अर्चना करके मनौती मांगी । इसके बाद सवांददाता से उन्होंने विशेष वार्ता करते हुए अपने फिल्मी कैरियर के उतार – चढाव की सभी बातें विस्तार से बतायीं ।  बातचीत के दौरान अभिनेता सुरेन्द्र ठाकुर ने बताया कि वह मूलत दाउंटी जिला सोलन ( हिमाचल प्रदेश ) के रहने वाले हैं । बताया कि उन्होंने सबसे पहले मॉडलिंग की दुनिया में पैर रखे और इसके बाद उन्होंने फिल्मों में अभिनय करने की ठानी । बताया कि उन्होंने सबसे पहले पंजाबी फिल्म आईलवयू बॉबी में अभिनय किया तो वहां उन्हें मैकअप मैन गोपाल दादा मिले तो उन्होंने उनकी साढे छह फिट की हाइट और लम्बा – चौड़ा शरीर देखकर बॉलीवुड फिल्मों में अभिनय करने की सलाह दी थी । इसके बाद बॉलीवुड में कैरियर बनाने के लिए करीब 15 साल पहले मुम्बई पहुंचे थे । वहां पहुंच कर उन्होंने फिल्मों में अदाकारी करने के लिए काफी लोगों से मुलाकात की तो सभी उन्हें कुछ दिन ठहरने का भरोसा देते रहे । ऐसे करते – करते उन्हें मुम्बई में दो साल निकल गये लेकिन उन्होंने कभी हार नहीं मानी । इस दौरान उनके माता – पिता और भाईयों ने भरपुर सहयोग किया । इसके बाद उनकी मेहनत रंग लायी और वह एक के बाद एक बॉलीवुड की तीन दर्जन से ज्यादा फिल्मों में अपने अभिनय का लोहा मनवा चुके हैं । उन्होंने फोर्स 2 , डबल धमाल , बेशर्म , पुलिसगिरी जैसी प्रमुख फिल्मों के साथ ही साऊथ की थिरेन जैसी फिल्मों में भी अभिनय कर चुके हैं । उन्होंने बताया कि आगामी 21 मार्च को उनकी फिल्म केसरी रिलीज होनी है और इसके बाद जंगली तथा मरजावां जैसी बड़ी फिल्म भी रिलीज होनी हैं । उनका कहना था कि वह फिल्मी परिवार से नहीं थे । इसलिए कैरियर के शुरूआती दिनों में बड़ी ही मुश्किलों का सामना करना पड़ा था । लेकिन कोई मुकाम हांसिल करने की ठान ले तो उसे सफलता मिलना निश्चित है । उन्होंने अपने परिवार के बारे में बताया कि पिता किसान हैं और मां गृहणी हैं तो वहीं उनके सबसे बड़े भाई आर्मी में रहकर देश सेवा कर चुके हैं तथा उनके दो छोटे भाईयों में से एक बिल्डर है तो वहीं एक ट्रांस्पोर्टर हैं । अभिनेता सुरेन्द्र ठाकुर के तीन बेटे हैं । वह अपने बेटों और धर्मपत्नी के साथ अंधेरी वेस्ट ( मुम्बई ) में रहते हैं । उन्होंने अपने बेटों के बारे में कहा कि अभी वह शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं लेकिन वह बड़े होकर जो बनना चाहें , वह उसमे सहयोग करेंगे । उन्होंने कहा कि मथुरा पहुंच कर ठाकुर श्री बांकेबिहारी और द्वारिकाधीश के दर्शन करना सौभाग्य की बात है । वहीं उनका यह भी कहना था कि मथुरा में फिल्मों की शूटिंग के लिए अपार संभावनाएं हैं ।

This article was last modified on March 8, 2019 1:39 AM

This website uses cookies.