X
    Categories: दिल्ली

राजधानी के जिनालयों में बह रही आध्यात्म की गंगा केसरिया रंग में रंगे जिनालय

नेमीनगर जिनालय में सहस्त्रनाम विधान ध्वजारोहण के साथ प्रारम्भ
भोपाल। राजधानी भोपाल के जैन मन्दिरों में धर्म और आध्यात्म की गंगा बह रही है अनेक धार्मिक कार्यक्रमों से राजधानी के जैन मन्दिर केसरिया रंग में रंगे हुए और श्रद्धालु भक्ति में सराबोर दिख रहे हैं। श्री नेमीनाथ दिगम्बर जैन मन्दिर नेमीनगर करोंद में मुनिश्री पुराण सागर महाराज के सानिध्य में श्रीमद् जिनेन्द्र सहस्त्रनाम महाअर्चना प्रारम्भ हुई जिनालय से गाजे-बाजे के साथ कलश यात्रा निकली जिसमें 56 कुमारियां बनीं बालिकाएं मस्तक पर मंगल कलश लिये चल रही थीं विभिन्न मार्गों से होती हुई शोभा यात्रा जैन मन्दिर पहुंची यहाँ ध्वजारोहण, इन्द्र प्रतिष्ठा, आचार्य निमंत्रण मण्डप शुद्धि आदि धार्मिक अनुष्ठान मंत्रोच्चार के साथ हुए।

जिनालय में भव्य प्रतीकात्मक समवशरण की रचना की गई है। आयोजन समिति के संयोजक मनोज इंजीनियर एम.आर. ने बताया कि श्रद्धालुओं ने इन्द्र-इन्द्राणियों का वेष धारण कर भगवान जिनेन्द्र के अनन्त गुणों की वंदना की, विधानाचार्य आशीष भैया, पुण्यांश एवं बाल ब्रह्मचारिणी सविता दीदी के निर्देशन में भक्तिमय माहौल में माड़ने पर अघ्र्य समर्पित हुए। मुनिश्री पुराण सागर महाराज ने आशीष वचन में कहा कि धार्मिक अनुष्ठान उत्सव नहीं महा महोत्सव होते हैं, धार्मिक अनुष्ठानों का आयोजन आत्मा में परमात्मा की प्राप्ति का माध्यम होता है।

कार्यक्रम के संयोजक मनोज जैन एम.आर., कोमलचन्द जैन, तेजकुमार जैन, सुरेश समरधा, अजित जैन, मनोज अंगोत्री, राकेश जैन, अजय जैन, सतीश, मनीष, आशीष, विकास, निर्मल, अभिषेक व प्रदीप आदि ने मुनिसंघ को श्रीफल समर्पित कर आशीर्वाद लिया।
राजुल महिला मण्डल एवं पाठशाला की शिक्षिकाओं द्वारा महिला सदस्यों ने मुनिसंघ के कर कमलों में शास्त्र भेंट किये तथा रात्रि में संगीतमय आरती के साथ सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन हुआ विधान का समापन 16 अप्रैल को विश्व शांति महायज्ञ के साथ होगा।

शाहजहांनाबाद जिनालय के स्थापना दिवस पर भगवान पाश्र्वनाथ का अभिषेक
शाहजहांनाबाद जैन मन्दिर के स्थापना दिवस के अवसर पर मूलनायक भगवान पाश्र्वनाथ का अभिषेक एवं विशेष शांतिधारा की गई और संगीतमय स्वरलहरियों के साथ भगवान पाश्र्वनाथ की पूजा-अर्चना की गई इस अवसर पर मंदिर समिति के अध्यक्ष अजय जैन समेत सभी पदाधिकारी मौजूद थे।

बावड़ियाकला जिनालय में श्री भगवान वासुपूज्य की पूजा अर्चना
श्री वासुपूज्य जिनालय बावड़ियाकला में मुनि अजित सागर महाराज के ससंघ सानिध्य में मूल नायक भगवान वासुपूज्य का अभिषेक एवं शंातिधारा के साथ पूजा-अर्चना की गई जिनालय में आकर्षक माड़ना सजाकर श्री कुंथुनाथ विधान के अघ्र्य समर्पित किये गये। इस अवसर पर मन्दिर समिति के अध्यक्ष अशोक जैन, तेज कुमार टोंग्या, अनिल जैन आरबीआई, राजा जैन समेत अनेक श्रद्धालु मौजूद थे।

This article was last modified on April 13, 2019 6:29 AM

This website uses cookies.