मैक्स अस्पताल ने बंचित बच्चों के साथ मनाया विशेष दिपोत्सव

नई दिल्ली: राष्ट्रीय राजधानी नई दिल्ली के पटपडगंज स्थित मैक्स अस्पताल के 500 से अधिक डॉक्टरों, नर्सों, कर्मचारियों और वरिष्ठ अधिकारियों ने शहर के स्वयंसेवी संगठन ग्रेस केयर फाउंडेशन के बच्चों के साथ रौशनी के त्यौहार दिवाली को खास तरीके से मनाया। यह आयोजन मैक्स हेल्थकेयर की पहल ’पंख स्वस्थ बच्चन की उड़ान’ के तहत किया गया। इस अभियान का लक्ष्य दीवाली के आगे आने वाले सभी उत्सवों के मौके पर ऐसे वंचित बच्चों को सहायता प्रदान करना है। स्वयंसेवी संस्था ग्रेस केयर फाउंडेशन के सभी बच्चांे को दिवाली का त्यौहार मनाने के लिए मैक्स अस्पताल के परिसर में लाया गया जहां बच्चों ने पूरे दिन तरह-तरह की मनोरंजक गतिविधियों में हिस्सा लिया तथा खूब मौज-मस्ती की। यह आयोजन ड्राइंग और पेंटिंग प्रतियोगिता के साथ शुरू हुआ। सभी बच्चों को ‘’गेट वेल सून (जल्द अच्छे हां)’’ विषय पर शुभकामना संदेश लिखने के लिए कोरे बधाई कार्ड प्रदान किए गए जिनपर बच्चों ने रचनात्मक तरीके से चित्र बनाएं एवं संदेश लिखे।

ड्राइंग प्रतियोगिता में 100 से अधिक बच्चों ने पूरे उत्साह के साथ हिस्सा लिया। सभी बच्चों को उपहार दिए गए। इन बच्चों द्वारा बनाए गए विशेष शुभकामना कार्डों को अस्पताल के मरीजों के बीच बांटा गया। प्रतियोगिता में पहले स्थान पर आने वाले पांच बच्चों को खास पुरस्कार दिए गए। सभी बच्चों को टी शर्ट दिए गए एवं उन्हें जलपान कराया गया। मैक्स हास्पीटल, पटपडगंज के निदेशक (आपरेशंस) नवीन गोयल ने इस मौके पर कहा, ‘‘किसी को देने में जो खुशी होती है उसी भावना के साथ शुरू किए गए पंख अभियान का लक्ष्य यह सुनिश्चित करना है कि ऐसे बंचित बच्चों को त्यौहारों के मौके पर खुशियों से बंचित नहीं होना पड़े और इस तहत यह सुनिश्चित किया जाए कि ऐसे त्यौहार में जो खुशियां अन्य लोगों को प्राप्त होती है उसी तरह की खुशियां इन बच्चों को मिले और वे आनंददायक गतिविधियों में हिस्सा ले सकें। इनमें से बच्चों का यह सपना होता है कि वे ऐसी दिवाली मनाएं जो उन्हें लंबे समय तक याद रहे। हम हर साल इन बच्चों को ऐसी ही सहायता एवं खुशियंा प्रदान करते हैं। हम चाहते हैं कि हम हम इन बच्चों के साथ अपनी खुशियां बांटे और हम ऐसा लंबे समय से कर रहे हैं।’’ पूरे अस्पताल परिसर में नर्सों की मदद से रंगोली बनाए गए। इस खास मौके पर शाम के समय अस्पताल के प्रबंधन के वरिष्ठ सदस्य एवं डाक्टर भी मौजूद थे जहां बच्चों ने दीए जलाए। बच्चों के एनजीओ के गृह जाने से पूर्व मिठाइयां एवं चाकलेट दिए गए।

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Instagram
Hide Buttons