X
    Categories: उत्तर प्रदेशशहर-देश

नए मोबाइल एप से लोगों को मिलेगी काफी सहूलियत, ई-बिडिंग होगी आसान : कंचन वर्मा

गाजियाबाद। जीडीए उपाध्यक्ष कंचन वर्मा ने जीडीए सभागार में ‘जीडीए गाजियाबाद’ नामक मोबाइल एप लांच किया। उन्होंने कहा कि इसे  जनहित पोर्टल से भी जोड़ा गया है, ताकि इस मोबाइल एप पर भी आने वाली शिकायतों सहित अन्य कार्यों को तय समय में ही निष्पादित करना होगा। इससे लोगों को काफी सहूलियत होगी और कई अनावश्यक झंझटों से मुक्ति भी मिलेगी। उन्होंने कहा कि इस एप को कोई भी व्यक्ति एंड्रॉयड मोबाइल के प्ले स्टोर से डाउनलोड कर सकेगा। आने वाले दिनों में यह एप्पल मोबाइल पर भी उपलब्ध करवाया जाएगा।

उपाध्यक्ष श्रीमती वर्मा ने आगे बताया कि इस एप के माध्यम से कोई भी व्यक्ति जीडीए के विभिन्न प्रोजेक्ट्स की पूरी अद्यतन जानकारी हासिल कर सकेगा। क्योंकि इस मोबाइल एप को सिंगल विंडो सिस्टम से भी जोड़ा गया है ताकि कोई भी व्यक्ति सभी कार्यों को आसानीपूर्वक कर ले। उन्होंने कहा कि म्यूटेशन, रजिस्ट्रेशन, सम्पत्ति, इंजीनियरिंग, एकाउंट, प्रशासनिक, प्लानिंग, शिकायत, सुझाव, शासनादेश, शमन शुल्क, विकास शुल्क, रजिस्ट्री आदि कार्य अब बेहद आसान हो जाएगा। क्योंकि लोगों को अब जीडीए के अनावश्यक चक्कर नहीं काटने पड़ेंगे।

उपाध्यक्ष श्री मती वर्मा ने यह भी बताया कि इस मोबाइल एप से ई-टेंडर, ई-बिडिंग की प्रक्रिया भी बेहद आसान हो जाएगी। सामान्य तौर पर यह एक जटिल प्रक्रिया रही है, लेकिन अब तकनीकी सहयोग से यह कार्य बेहद आसान हो जाएगा। बैंकिंग की झंझट से भी मुक्ति मिलेगी। साथ ही, इस पूरी प्रक्रिया से सम्बंधित अद्यतन जानकारी लोगों के स्मार्टफोन पर उनकी जरूरतों और रुचि के मुताबिक मिलती रहेगी।

इस अवसर पर मोबाइल एप परियोजना के मुख्य सूत्रधार सहायक अभियंता सह मीडिया प्रभारी ई अमरदीप कुमार ने बताया कि अगले एक सप्ताह के भीतर इस एप को आईओएस पर लांच कर दिया जायेगा। इसके लिए एप्पल की तरफ से आईओएस पर लांच करने की अनुमति मिल चुकी है। उन्होंने आगे कहा कि इस मोबाइल एप के ऑपरेटिंग सिस्टम आईओएस पर लांच होने के पश्चात जीडीए गाजियाबाद सूबे का पहला मोबाइल एप होगा जो एंड्रॉयड मोबाइल के साथ-साथ एप्पल मोबाइल पर भी चलेगा। उन्होंने कहा कि इस मोबाइल एप के जरिये ऑनलाइन नक्शा पास कराने का आवेदन भी अब किया जा सकेगा और इसके बारे में समुचित जानकारी भी इस एप के माध्यम से ली जा सकती है।

आगे जीडीए उपाध्यक्ष कंचन वर्मा ने यह भी बताया कि इस मोबाइल एप के लांच होने से जीडीए कार्यालय के स्वागत कक्ष में बने सिंगल विंडो सिस्टम काउंटर पर भी लोगों की भीड़ कम होगी। इसके अलावा, लोग इस एप के जरिए खराब स्ट्रीट लाइट भी ठीक करवा सकेंगे। अब कोई भी व्यक्ति इस मोबाइल एप के माध्यम से फोटो खींचकर इस पर जियो टैग के माध्यम से अपलोड कर सकेगा, जिससे जीडीए इंजीनियर को स्ट्रीट लाइट के लोकेशन का  पता चल जाएगा और आसानी पूर्वक उसकी मरम्मत की जा सकेगी।

This article was last modified on February 22, 2019 3:18 AM

This website uses cookies.