X
    Categories: दिल्ली

(शेयर बाजार साप्ता‎हिक समीक्षा) निवेशकों में सकारात्मक रुझानों से गुलजार रहा घरेलू शेयर बाजार

– सेंसेक्स 135 अंकों की गिरावट के साथ 39,140 पर बंद
– निफ्टी 34 अंक फिसलकर 11,753 पर बंद
मुंबई ‎पिछले सप्ताह सकारात्मक घरेलू और विदेशी रुझानों से भारतीय शेयर बाजार गुलजार रहा और प्रमुख संवेदी सूचकांक 39,487.45 के सबसे ऊंचे स्तर को छूने के बाद सप्ताह के आखिरी सत्र में गुरुवार को 39,000 के मनोवैज्ञानिक स्तर से ऊपर बंद हुआ। ‎पिछले सप्ताह दो दिनों का अवकाश होने के कारण घरेलू शेयर बाजार में सिर्फ तीन ही दिन कारोबार हुआ।

कारोबार के आखिरी सत्र में बीएसई का प्रमुख संवेदी सूचकांक पिछले सप्ताह के मुकाबले 373.17 अंक की तेजी के साथ 39,140 पर बंद हुआ। एनएसई का प्रमुख संवेदी सूचकांक निफ्टी भी पिछले सप्ताह के मुकाबले 109.35 अंकों की तेजी के साथ 11,753 पर बंद हुआ। हालांकि बीएसई मिडकैप सूचकांक साप्ताहिक 43.88 अंकों की गिरावट के साथ 15,383 पर बंद हुआ। बीएसई स्माल कैप सूचकांक 0.98 अंक की कमजोरी के साथ 15,021 पर बंद हुआ।


सप्ताह के पहले कारोबारी सत्र में सोमवार को विदेशी बाजारों से मिले मजबूत संकेतों से भारतीय शेयर बाजार में तेजी का रुख बना रहा और सेंसेक्स पिछले कारोबारी सत्र के मुकाबले 138073 अंकों की तेजी के साथ 38,906 पर बंद हुआ।

निफ्टी भी 47 अंकों की बढ़त के साथ 11,690 पर रहा। मंगलवार को भी तेजी का सिलसिला जारी रहा जिसे विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों के मजूबती के रुझानों का सहारा मिला। सप्ताह के दूसरे सत्र में सेंसेक्स 370 अंकों की तेजी के साथ 39,276 की रिकॉर्ड ऊंचाई पर बंद हुआ। निफ्टी भी 97 अंकों की बढ़त के साथ रिकॉर्ड 11,787 की ऊंचाई पर बंद हुआ। बुधवार को महावीर जयंती का अवकाश होने की वजह से शेयर बाजार बंद रहा।

कारोबारी सप्ताह के तीसरे सत्र में गुरुवार को हालांकि बिकवाली का दबाव रहा और सेंसेक्स 39,487 की रिकॉर्ड ऊंचाई को छूने के बाद पिछले सत्र के मुकाबले 135 अंकों की गिरावट के साथ 39,140.28 पर बंद हुआ। निफ्टी भी पिछले सत्र के मुकाबले 34 अंक फिसलकर 11,753 पर बंद हुआ। यह कारोबारी सप्ताह का आखिरी सत्र था क्योंकि गुड फ्राइडे के अवकाश पर शुक्रवार को शेयर बाजार में कारोबार बंद रहा। भारत मौसम विज्ञान विभाग के पूवार्नुमान के अनुसार इस साल मानसून सामान्य के करीब रहेगा। इस रिपोर्ट से बाजार में निवेशकों के बीच सकारात्मक रुझान देखने को मिला।

This article was last modified on April 20, 2019 6:24 AM

This website uses cookies.